भारत आने वाले राफेल लड़ाकू विमान की पहली झलक
भारत आने वाले राफेल लड़ाकू विमान की पहली झलक
13, Nov 2018,03:11 PM
tv100,

राफेल विमान को लेकर देश में सड़क से संसद तक हंगामा मचा. मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा.

इस जेट की खासियत
हवा से हवा में मार कर सकता, हवा से जमीन पर भी आक्रमण करने में सक्षम है. इसमें खास इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सिस्टम भी लगा है जिसके जरिए दुश्मनों को लोकेट किया जा सकता है,यह परमाणु बम गिराने में भी सक्षम है.उनके रडार को जाम भी कर सकते हैं.

राफेल में खास सिस्टम है जो दुश्मनों के क्षेत्र में लड़ाई कर वापस आने में भी मदद कर सकता है. यह जेट इतना फ्लेक्सिबल है कि कम से कम उंचाई से लेकर अधिक से अधिक ऊंचाई तक, दोनों ही स्थितियों में बेहतर एक्शन ले सकता है.

दस्तावेजों के मुताबिक, 36 राफेल विमानों का सौदा मोदी सरकार ने 59000 हजार करोड़ रुपये में किया है.कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार पर राफेल डील में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. लेकिन अब फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपियर ने इस डील पर उठ रहे सवालों का जवाब दिया है.

सीईओ ट्रैपियर ने कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं, वह बिल्कुल निराधार हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने दसॉल्ट और रिलायंस के बीच हुए ज्वाइंट वेंचर (JV) के बारे में सरासर झूठ बोला है.

ये भी पढ़ें :

35 करोड़ की यह बाइक बुलेट ट्रेन से भी तेज, दुनिया में सिर्फ कुछ लोगों के पास

खबरें