उन्नाव कांडः दुष्कर्म पीड़िता के पिता की हत्या मामले में आरोप तय
उन्नाव कांडः दुष्कर्म पीड़िता के पिता की हत्या मामले में आरोप तय
13, Aug 2019,05:08 PM
TV100,

दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने मंगलवार को सुनवाई करते हुए उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में कथित मौत के मामले में भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर और अन्य के खिलाफ आरोप तय किए हैं। 

जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने पीड़िता के पिता को 2018 में सशस्त्र अधिनियम के तहत आरोपी बनाने और उन पर हमला करने के मामले में सेंगर और अन्य के खिलाफ आरोप तय किये।इस मामले में 10 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये गये हैं।

उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़िता की कार को टक्कर मारने के मामले में सीबीआई की टीम ट्रक चालक व कंडक्टर से पूछताछ कर रही है। इसके लिए जांच टीम गुजरात के गांधीनगर स्थित एफएसएल लैब में ब्रेन इलेक्ट्रिकल ऑसिलेशन सिग्नेचर प्रोफाइलिंग टेस्ट करवाएगी।

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए रायबरेली में सड़क हादसे की जांच कर रही सीबीआई ने मंगलवार को भी इस मामले में पूछताछ का सिलसिला जारी रखा। मंगलवार को आढ़तियों और मोरंग खरीदने वाले व्यक्ति को पूछताछ के लिए लखनऊ दफ्तर पर बुलाया।

वहीं माखी थाने के पुलिस कर्मियों से लगातार तीसरे दिन पूछताछ का सिलसिला जारी रहा। पुलिस की छोटी बस में बैठकर उन्नाव से आए लगभग दर्जन भर पुलिस कर्मियों से पूरे दिन पूछताछ चली। सीबीआई इस पूरे हादसे की कड़ी से कड़ी जोड़ने की कोशिश कर रही है। 

सूत्रों का कहना है जांच में सीबीआई फिलहाल एक्सीडेंट की कड़ियां उन्नाव रेप कांड से जोड़ने में मददगार साक्ष्य जुटाने की कोशिश कर रही है। इसी कड़ी में सीबीआई ने रायबरेली के देदौर गांव निवासी कृष्ण चंद्र को पूछताछ के लिए तलब किया। 

कृष्ण चंद्र के घर पर मोरंग गिराने के बाद ट्रक चालक लौट रहा था और गुरुबख्शगंज में उन्नाव रेप पीड़िता की कार से भिड़ गया। जिसमें दो महिलाओं की मौत हो गई और पीड़िता व उसका वकील गंभीर रूप से घायल हो गया था। दोनों का इलाज फिलहाल दिल्ली एम्स में चल रहा है।

कल सोमवार को भी दोनों आरोपियों का टेस्ट करवाया गया था। जिसमें लगातार नौ घंटे परीक्षण के बाद सीबीआई टीम को इस केस से जुड़ी तमाम जानकारियां मिली थीं।

मामले में जांच करने वाली टीम ने सीबीआई टीम को स्टिल फोटोग्राफ व वीडियो भी सौंपे थे। दरअसल, सीबीआई की टीम आरोपियों का मेमोरी रिकॉल टेस्ट और नार्को टेस्ट करवाना चाहती थी। इसलिए दोनों को गांधीनगर स्थित लैब लाया गया है।

बताया जा रहा है कि शुरूआती टेस्ट के बाद नार्को टेस्ट के लिए कुल पांच दिनों की जरूरत होगी।

ये भी पढ़ें :

दिल्ली: सुषमा स्वराज के लिए शोक सभा का आयोजन, पीएम मोदी और अमित शाह हैं मौजूद

खबरें