उन्नाव रेप: धरने पर बैठे पीड़िता के परिजन, चाचा को पैरोल देने की मांग
उन्नाव रेप: धरने पर बैठे पीड़िता के परिजन, चाचा को पैरोल देने की मांग
30, Jul 2019,09:07 AM
TV100,

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए एक्सीडेंट मामले में परिजनों का विरोध शुरू हो गया है. परिजनों ने मृतक चाची के अंतिम संस्कार से मना कर दिया है. इस बीच परिजन लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. परिजनों का कहना है कि जब तक पीड़िता के चाचा को पैरोल नहीं मिलती है, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा. परिजनों ने सरकार से पीड़िता के चाचा को पैरोल दिलाने की मांग की है

रायबरेली-लालगंज हाईवे पर उन्नाव के चर्चित दुष्कर्म मामले की पीड़िता की कार में टक्कर मारने वाला ट्रक फतेहपुर के सपा नेता व पूर्व जिला सचिव नंदू पाल का निकला। सपा नेता का कहना है कि इसे साजिश बताकर बेवजह तूल दिया जा रहा है, जबकि यह महज हादसा है। सपा नेता का कहना है कि ट्रक के नंबर प्लेट में कालिख पोतने की वजह केवल फाइनेंसर की नजरों से बचना था। 

चारो भाइयों के बीच 27 ट्रक हैं। इसके अलावा लखनऊ रोड पर्र ईंट-भट्ठा है। सपा नेता नंदू पाल का कहना है कि पूरा कारोबार संयुक्त रूप से चलता है। कारोबार की निगरानी वह खुद करते हैं। उन्होंने बताया कि दुर्घटना करने वाला ट्रक दूसरे नंबर के भाई देवेंद्र किशोर पाल के नाम पर है। यह ट्रक मोरंग रायबरेली में उतारने के बाद फतेहपुर लौट रहा था।

रायबरेली और लालगंज के बीच अटौरा गांव के पास हादसा हो गया। ट्रक समेत चालक को पुलिस उठा ले गई है। जहां तक नंबर प्लेट पर कालिख पोतने की बात है तो आमतौर पर फाइनेंसर से बचने के लिए बारिश के मौसम में किया जाता है। ज्यादातर ट्रक मालिक यह काम करते हैं।

सपा नेता नंदकिशोर पाल ने बताया कि उनका संयुक्त परिवार है। हाईवे पर दुर्घटना की सूचना पर छोटे भाई देवेंद्र किशोर पाल को मौके पर भेजा गया था, जहां पर पुलिस ने चालक के साथ उसे भी थाने में बैठा लिया है। दुष्कर्म के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर कभी सपा में भी थे, इसकी जानकारी नहीं है। ट्रक और कार की टक्कर महज हादसा है। ललौली प्रधान मुबारक खान का कहना है कि सपा नेता का परिवार शुद्ध व्यवसायी है। ऐसे में किसी तरह की साजिश नहीं लगती। 

फतेहपुर ललौली कस्बे के सातआना मोहल्ला निवासी सपा नेता नंदकिशोर पाल उर्फ नंदू पाल की पत्नी रामाश्री पाल सपा से असोथर ब्लॉक की प्रमुख रह चुकी हैं। सपा नेता चार भाई हैं। दूसरे नंबर पर देवेंद्र किशोर पाल, तीसरे नंबर मुन्ना पाल और सबसे छोटा दिलीप पाल है। दिलीप का मकान लालगंज में है। तीन भाइयों के ललौली के साथ शहर के नई तहसील के सामने पाल नगर में अलग-अलग मकान हैं।

ये भी पढ़ें :

देश के लिए 18 साल तक खतरा बना रहा अब्दुल मजीद,पूछताछ में कई और खुलासे

खबरें