तीन तलाक बिल राज्यसभा में आज होगा पेश,क्या पास हो पायेगा बिल?
तीन तलाक बिल राज्यसभा में आज होगा पेश,क्या पास हो पायेगा बिल?
30, Jul 2019,09:07 AM
TV100,

सरकार की कोशिश तीन तलाक विधेयक को भी इसी तरह पारित कराने की है। राज्यसभा में सरकार का स्पष्ट बहुमत अब भी नहीं है, वहीं जनता दल यू जैसे सहयोगियों ने इस विधेयक का विरोध करने का एलान कर सरकार की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। लेकिन, सरकार को आशा है कि विपक्षी दलों के बिखराव की वजह से उसे राज्यसभा में तीन तलाक विधेयक पारित कराने में कठिनाई नहीं होगी।

लोकसभा से पास होने के बाद तीन तलाक बिल आज(मंगलवार) को राज्यसभा में पेश होगा. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने इसे लेकर अपने सांसदों को व्हिप जारी किया है. राज्यसभा में तीन तलाक बिल को पास कराने के लिए मोदी सरकार गैर एनडीए, गैर-यूपीए पार्टियों पर निर्भर रहेगी

राज्यसभा में बहुमत न होने से कई बार बीजेपी को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है. जो बिल लोकसभा से आसानी से पास हो जा रहे हैं, वो राज्यसभा में अटक जा रहे हैं. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि बीजेपी राज्यसभा में कितनी ताकतवर है

राज्यसभा में एनडीए के पास बहुमत नहीं है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद अरुण जेटली वोटिंग नहीं करेंगे. ऐसे में अकेले बीजेपी के पास महज 77 सीटें हैं. एनडीए राज्यसभा में 103 की संख्या में सिमटी है

केंद्र में बीजेपी की सहयोगी नीतीश कुमार की अध्यक्षता वाली पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) ट्रिपल तलाक बिल पर वोटिंग नहीं करने के पक्ष में है. वाईएसआर कांग्रेस पार्टी भले सहयोगी नहीं है लेकिन ट्रिपल तलाक पर वोटिंग नहीं करेगी. एआईएडीएमके भी वोटिंग नहीं करेगी. बीजू जनता दल(बीजेडी) तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार के पक्ष में वोटिंग करेगी

विपक्ष में बिखराव दिखने लगा है। विपक्षी एकता की कर्णधार बनने वाली तृणमूल कांग्रेस अब एकला चलो रे की नीति अपना रही है। उसके नेता डेरेक ओ ब्रायन का कहना है कि दूसरे क्षेत्रीय राजनीतिक दल भाजपा के दबाव में आ गए। भाजपा नेताओं ने तेलगू देशम, तेलंगाना राष्ट्र समिति और बीजू जनता दल के शीर्ष नेताओं से संपर्क कर उनके सांसदों को विधेयक का समर्थन करने के निर्देश जारी करा दिए।

ये भी पढ़ें :

उन्नाव रेप: धरने पर बैठे पीड़िता के परिजन, चाचा को पैरोल देने की मांग

खबरें