रेलवे के निजीकरण के विरोध में लोको पायलटों ने खोला मोर्चा
रेलवे के निजीकरण के विरोध में लोको पायलटों ने खोला मोर्चा
15, Jul 2019,05:07 PM
TV100,

रेलवे के निजीकरण के विरोध में ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन के बैनर तले लोको पायलटों ने मोर्चा खोल दिया है। पुरानी पेंशन सहित कई मांगों को लेकर सोमवार से 24 घंटे के लिए ट्रेन ड्राइवर भूख हड़ताल पर चले गए हैं। वो भूखे रहकर ट्रेनों का संचालन करेंगे। हड़ताल सोमवार सुबह 11 बजे उपवास के बाद से शुरू हो गई।

इसी क्रम में चारबाग रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-एक पर स्थित क्रू लॉबी के सामने कर्मचारी शांतिपूर्ण ढंग से उपवास रखेंगे। दरअसल माइलेज अलाउंस, वेतन विसंगति लोको पायलटों के लिए ऐसी मांगें व मुद्दे हैं, जिसे लेकर गत वर्ष देशभर के ड्राइवरों ने भूख हड़ताल की थी।

उस समय ड्राइवरों ने भूखे पेट रहकर ट्रेनों को चलाया था। पर, उनकी मांगों को अनसुना कर दिया गया, जिसके बाद अब लंबित मांगों को लेकर फिर से लोको पायलटों ने मोर्चा खोल दिया है।

15 से 24 घंटे के लिए लोको पायलट भूखे पेट रहकर प्रदर्शन करेंगे। लेकिन इस बार भूख हड़ताल को लेकर रेलवे अधिकारी आशंकित हैं कि कहीं लोको पायलट ट्रेनों का संचालन भी प्रभावित न कर दें।

रेलवे बोर्ड के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर आलोक कुमार ने सभी जोनों को आदेश दिया है कि कोई भी ट्रेन ड्राइवर सेफ्टी के नियमों का उल्लंघन न करे और सुरक्षित संचालन में सहयोग दे।

बगैर सक्षम अधिकारी की परमिशन के छुट्टी पर न जाएं। साथ ही जोनल मुख्यालयों को भी यह तय करना होगा कि ट्रेन का संचालन बाधित न होने पाए। लोको पायलट नियम विरुद्घ छुट्टी पर जाएं या संचालन बाधित करें तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। यह भी कहा कि यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं होना चाहिए।

ये भी पढ़ें :

पाकिस्तान ने भारत के लिए खोला एयरस्पेस,एयरस्ट्राइक के बाद किया था बंद

खबरें