अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरा का आज दूसरा दिन,अहम् मुद्दों पर चर्चा
अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरा का आज दूसरा दिन,अहम् मुद्दों पर चर्चा
27, Jun 2019,09:06 AM
TV100,

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरे का आज दूसरा दिन है। अमित शाह से आज प्रदेश भाजपा विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन की मांग करेगी, इसके अलावा सरपंचों व पंचों का तीस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी गृहमंत्री से मुलाकात करेगा। 
आपको बता दें कि रियासत के पहले दौरे के दौरान प्रदेश भाजपा विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन की मांग पुरजोर तरीके से रखने का मन बना चुकी है। प्रदेशाध्यक्ष रवींद्र रैना की अगुवाई में करीब सौ प्रमुख नेता शाह से मिलने के लिए श्रीनगर पहुंच चुके हैं। 

आज सुबह 11 से दोपहर 12.30 बजे तक प्रदेश भाजपा को विभिन्न मुद्दों पर अमित शाह के समक्ष अपना पक्ष रखने का समय निर्धारित हुआ है। 

पार्टी सूत्रों के अनुसार श्री अमरनाथ यात्रा में बस कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसे में पार्टी चाहती हैं कि यात्रा के समय में कोई भी विवादित मुद्दे को ज्यादा तूल न मिले। हालांकि विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन की मांग को पुरजोर तरीके से केंद्रीय गृह मंत्री के समक्ष रखा जाएगा। पार्टी चाहती हैं कि विधानसभा क्षेत्रों का परिसीमन हो। 
इसके अलावा श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा व उन्हें बेहतर सुविधाएं देने के अलावा विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेश में पार्टी की तैयारियों, अनुच्छेद 35ए और 370 को हटाने के संबंध में अपना पक्ष रखेगी। 

प्रदेशाध्यक्ष रवींद्र रैना से इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि जम्मू से उनके समेत पार्टी उपाध्यक्ष, महासचिव, पूर्व विधायक, एमएलसी समेत करीब सौ नेता श्रीनगर पहुंच चुके हैं और वीरवार सुबह 11 बजे केंद्रीय गृह मंत्री से प्रदेश भाजपा नेताओं की बैठक निर्धारित की गई है।

राज्य में निर्वाचित सरपंचों व पंचों के प्रमुख संगठन आल जम्मू कश्मीर पंचायत कांफ्रेंस का तीस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल वीरवार रात आठ बजे श्रीनगर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलेगा। 

कांफ्रेंस के अध्यक्ष अनिल शर्मा के अनुसार रियासत के सभी संभागों से तीस सदस्यीय  प्रतिनिधि श्रीनगर पहुंच चुके हैं और वीरवार को केंद्रीय गृह मंत्री से मिलने का समय मिल चुका है।

केंद्रीय गृह मंत्री से रियासत में संविधान के 73वें संशोधन को पूरी तरह से लागू करने, ब्लाक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव करवाने की मांग की जाएगी। 

उनका कहना हैं कि निर्वाचित सरपंचों व पंचों की सुरक्षा मजबूत करने के अलावा मानदेय की जगह वेतन का प्रावधान करने और पंचायत विकास फंड का प्रावधान करने की मांग भी की जाएगी।  
 

ये भी पढ़ें :

जी-20 सम्मेलन: जापान पहुंचे पीएम मोदी,छाया रह सकता है ट्रेड वॉर और ईरान तनाव

खबरें