ध्रुव त्यागी की हत्या के आरोप में जहांगीर गिरफ्तार, AAP बोली- राजनीतिक ताकतें इसे धार्मिक रंग देने में जुटी
ध्रुव त्यागी की हत्या के आरोप में जहांगीर गिरफ्तार, AAP बोली- राजनीतिक ताकतें इसे धार्मिक रंग देने में जुटी
15, May 2019,02:05 PM
tv100,

दिल्ली में रविवार को बसाई दरगपुर इलाके में 51 साल के बिज़नेसमैन ध्रुव त्यागी को अपनी 27 साल की बेटी से छेड़छाड़ का विरोध करने पर कुछ लोगों ने चाकूओं से गोद कर मार डाला, जबकि इस घटना में अपने पिता को बचाने आया 19 साल का बेटा अनमोल गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है. हमले का आरोप जहांगीर नाम के शख्स और उनके तीन बेटों पर लगा है.

अब इस मामले को सांप्रदायिक रंग देने की बात कही जा रही है. मंगलवार को आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने आरोप लगाया कि कुछ राजनैतिक ताकतें बिज़नेसमैन ध्रुव त्यागी की हत्या को धार्मिक रंग देने की कोशिश कर रही हैं.

संजय सिंह ने कहा, “ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और इसमें धर्म को शामिल नहीं करना चाहिए. कुछ राजनैतिक ताकतें इस मामले को धार्मिक रंग देने मे जुट गई हैं. लेकिन ये मंज़ूर नहीं है.”

संजय ने कहा कि उनकी पार्टी पीड़ित परिवार की पूरी सहायता करेगी. उन्होंने ये भी कहा कि अगर दिल्ली पुलिस इस मामले में ठीक से जांच नहीं करेगी तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेता विरोध प्रदर्शन करेंगे.

बसाई दरगपुर का इलाका मादीपुर विधानसभा क्षेत्र में आता है. संजय सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वहां उस क्षेत्र के विधायक गिरीश सोनी भी मौजूद थे. गिरीश ने इस मामले में  बीजेपी-आरएसएस पर धार्मिक रंग देने का आरोप लगाया.

कब हुई घटना?
आपको बता दें कि ये घटना रविवार की है. एफआईआर के मुताबिक जब ध्रुव त्यागी अपनी बेटी के साथ अस्पताल से वापस लौट रहे थे. उसी दौरान जहांगीर के एक बेटे ने उनकी तरफ गलत इशारा किया. जिसके कुछ देर बाद जहांगीर अपने बेटे अनमोल के साथ इस मामले की शिकायत करने जहांगीर के घर गए. जब त्यागी अपने बेटे के साथ उनके घर पहुंचे तो तीन भाई घर के बाहर नशे में धुत बैठे थे. तभी वहां त्यागी की उनके बेटों से बहसा बहसी हो गई. उसी दौरान जहांगीर, उनकी पत्नी और बेटी घर की बालकनी से उनपर पत्थर बरसाने लगे. पुलिस को बताया गया कि जहांगीर की पत्नी ने ही उन्हें चाकू लाकर दिया था.

ध्रूव त्यागी के सीने के पास दो बार चाकू से वार किया गया. इसके अलावा उनके पैर पर भी गंभीर चोटें आईं. त्यागी के बेटे अनमोल ने पुलिस को बताया कि जब उनकी बहन बीच बचाव के लिए पहुंची तो, जहांगीर के परिवार ने उन पर भी हमला किया,जिनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं.


 

ये भी पढ़ें :

ममता बनर्जी का मीम पोस्ट करने वाली प्रियंका शर्मा जेल से रिहा, बोलीं- माफी नहीं मांगूंगी

खबरें