भारतीय वायुसेना के हमले के बाद शवों को बालाकोट से ऐसे हटाया गया : अमेरिकी कार्यकर्ता
भारतीय वायुसेना के हमले के बाद शवों को बालाकोट से ऐसे हटाया गया : अमेरिकी कार्यकर्ता
13, Mar 2019,01:03 PM
TV100,

उर्दू मीडिया में ऐसी खबरें आई हैं कि भारतीय वायुसेना की आतंकी शिविरों को हवाई हमले के बाद बालाकोट से कुछ शवों को खैबर पखतूनख्वा और पाकिस्तान के कबायली इलाकों में भेजा गया। गिलगित के एक कार्यकर्ता ने यह जानकारी दी है। 

अमेरिकी में रहनेवाले और गिलगित से ताल्लुक रखनेवाले सेंगे हसनान सेरिंग ने सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा, "पाकिस्तान के सैन्य अधिकारी ने कबूल किया है कि बालाकोट पर हुए भारतीय हमले में 200 से ज्यादा आतंकवादी 'शहीद' हुए हैं। आतंकवादियों को मुजाहिद कहा गया है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर सरकार के समर्थन में युद्ध करने से उन्हें अल्लाह से विशेष जीवनाधार मिलता है। उनके परिवारों की मदद की कसम खाते हैं।" 

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए सेरिंग ने कहा, "मुझे यह नहीं मालूम कि इस वीडियो की सच्चाई क्या है, लेकिन पाकिस्तान निश्चित तौर पर बालाकोट में हुए कुछ महत्वपूर्ण चीज को छिपा रहा है। अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय मीडिया को घटनास्थल पर जाने और नुकसान के आकलन की इजाजत नहीं दी गई। 

पाकिस्तान लगातार कह रहा है कि हवाई हमला हुआ और इससे जंगल और खेत की कुछ जमीनों को नुकसान पहुंचा है। लेकिन इसके बाद ऐसी कोई वजह नहीं है जिससे पाकिस्तान ने लंबे समय से इस इलाके में जाने पर पाबंदी लगा रखी है और अंतरराष्ट्रीय मीडिया को वहां के हालात के बारे में स्वतंत्र राय बनाने नहीं दे रहे। 

उन्होंने कहा कि, "इसके साथ ही, जैश-ए-मोहम्मद का दावा है कि वहां उसका मदरसा मौजूद था। साथ ही साथ ऊर्दू मीडिया में ऐसी खबरें है कि हमले के दूसरे दिन या कुछ दिनों बाद कुछ शवों को बालाकोट से खैबर पखतूनख्वा और पाकिस्तान के दूसरे कबायली इलाकों में भेजा गया।

इसलिए ऐसे काफी सबूत हैं जिससे विश्वास के साथ कहा जा सकता है कि बालाकोट में भारतीय वायुसेना का हवाई हमला सफल था और पाकिस्तान इससे उलटा कुछ भी साबित नहीं कर पाया है। क्योंकि उसने अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मीडिया को घटनास्थल में जाने की अनुमति नहीं दी है। 

बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। 

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के 12 दिनों बाद 26 फरवरी मंगलवार को भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश के आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर हमला कर 325 आतंकवादी और आतंकियों के ट्रेनर का सफाया कर दिया। 

ये भी पढ़ें :

खबरें