आरक्षण:राजस्थान रेल पटरियों पर बैठे गुर्जर, 7 ट्रेनों के बदले रूट रेलवे सेवा बाधित
आरक्षण:राजस्थान रेल पटरियों पर बैठे गुर्जर, 7 ट्रेनों के बदले रूट रेलवे सेवा बाधित
09, Feb 2019,11:02 AM
tv100,

कर्नल किरोरी सिंह बैंसला के नेतृत्व में गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के सदस्य आज राजस्थान में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसकी वजह से सड़क और रेलवे सेवा बाधित है। समिति ने रेलवे ट्रैक और हाईवे को ब्लॉक कर रखा है। वह राज्य की सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

उधर आरक्षण की मांग को लेकर रेल पटरी पर बैठे बुजुर्गों से बातचीत के लिए राजस्थान सरकार ने तीन मंत्रियों की एक टीम बनाई है. टीम के नेता आज (शनिवार) गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से बातचीत करेंगे. इस टीम में पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, समाज कल्याण मंत्री भंवर लाल मेघवाल और रघु शर्मा को शामिल किया गया है. आईएएस अधिकारी नीरज के पवन को भी कर्नल बैंसला से बातचीत के लिए भेजा जा रहा है.

गुर्जरों को चार अन्य समुदायों के साथ मिलकर वर्तमान में अति पिछड़ा वर्ग के तहत एक प्रतिशत का आरक्षण मिलता है। इसके साथ उन्हें पिछड़ा वर्ग के तहत भी आरक्षण मिलता है।

गुर्जरों की मांग है कि उन्हें अलग से पांच प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। बैंसला ने संवाई माधोपुर के मकसंदपुरा में शुक्रवार को महापंचायत बुलाई है। समुदाय के हजारों लोग पंचायत के लिए इकट्ठा हुए हैं। बैंसला द्वारा एक और आंदोलन का आह्वान करने पर समुदाय के सदस्यों ने दिल्ली-मुंबई के रेल रूट को मलारना डुंगा रेलवे स्टेशन पर ब्लॉक कर दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक एक हजार से लेकर दो हजार के बीच आंदोलनकारी दिल्ली-मुंबई  मलारना और निमोदा रेलवे स्टेशन के बीच पटरी पर बैठे हुए हैं. हालांकि कहीं से गुर्जर आंदोलन को लेकर हिंसक खबर नहीं आई है. ट्रैक जाम होने की वजह से अभी तक करीब 21 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं जिनमें 13 ट्रेनों के रूट बदले गए हैं और 8 ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है.

ये भी पढ़ें :

ईटानगर में बोले PM मोदी-अरुणाचल देश की सुरक्षा का गेटवे,युवाओं के रोजगार के नए अवसर

खबरें