कौन सुनेगा मेरी गुहार
कौन सुनेगा मेरी गुहार
06, Dec 2018,10:12 AM
tv100,

सरकार सीनियर सिटीजन के लिए काफी कुछ कार्य कर रही है लेकिन अधिकारी पलीता लगाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे। ऐसा ही एक मामला गांव बाबडोली का सामने आया है जहां एक सीनियर सिटीजन अपनी गुहार लेकर एक अधिकारी से दूसरे अधिकारी  के पास चक्कर काट  रहा है लेकिन दर्जनों शिकायत देने के बावजूद किसी ने उनकी गुहार नहीं सुनी है। ऐसे में कार्रवाई नहीं होने के बाद अब वे व्रद्ध सुसाइड करने की बात भी सोचने लगा है ।वृद्ध का कहना है कि गांव के ही एक पूर्व सैनिक के पास अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर है ।उसके साथ उसका जमीनी विवाद है ।हालांकि जमीन विवाद को लेकर वह न्यायालय में सटे भी ले चुके हैं लेकिन उसके बावजूद भी यह पूर्व सैनिक अक्सर उसके घर पहुंच जाता है और सरेआम हाथ में रिवाल्वर लेकर उसे गंदी गंदी गालियां देने लगता है ।पुलिस को देने के लिए उसने इस पूर्व फौजी का ऑडियो और वीडियो भी बनाया हुआ है और सीडी बनाकर शिकायत पत्र के साथ दे भी चुका है लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस की कुंभकरण की नींद नहीं टूट रही। 11 नवंबर को तो इस पूर्व सैनिक ने वृद्ध तथा उसके  परिवार के साथ मारपीट भी की इसकी शिकायत उन्होंने  जाटूसाना पुलिस को दी लेकिन पुलिस ने पूर्व सैनिक के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय दोनों पर ही मुकदमा दर्ज कर दिया। इतने दिन बीतने के बावजूद भी दर्ज किए हुए  मुकदमे पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो पाई ।जब पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो वृद्ध ने हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया और पुलिस को डायरेक्शन दिलवाई की वृद्ध की जान माल की रक्षा की जाए लेकिन पुलिस अधिकारियों ने न्यायालय के ऑर्डर की कॉपी को ही लेने से इंकार कर दिया।  अब यह व्रद्ध अपने घर में ही बंधक बनकर रहने को मजबूर है ।व्रद्ध  ने कहा कि अगर पुलिस कार्रवाई नहीं करती है तो वह सुसाइड करने को मजबूर हो जाएंगा।

ये भी पढ़ें :

खबरें