अगर हौसला है तो कामयाबी लाजमी है इस बात पर मुक्कमल किया संतोष कुमार नें
अगर हौसला है तो कामयाबी लाजमी है इस बात पर मुक्कमल किया संतोष कुमार नें
14, Nov 2018,11:11 AM
Edited By Aarti Singh,

अगर आपको लगता है की पढाई और कमाई का आपस में कोई वास्ता है तो एक बार फिर से विचार करें, क्योंकि हम जिस शक्श से आपको मिलवाने जा रहे हैं उनने मात्र दसवीं तक ही पढाई की है। जी हाँ हमारा मतलब ये नहीं ही की आप पढाई करना बंद कर दें। लेकिन अगर आप कुछ बड़ा करना चाहते हैं तो आपको कोई रुकने वाला नहीं है। हम बात कर रहे हैं बिहार के रहे वाले संतोष कुमार की। जो की बिहार में अपना बेकरी का सफल उद्योग चला रहे हैं कुछ साल भर पहले संतोष दिल्ली के किसी ऑफिस में ऑफिस बॉय की नौकरी करते थे और आज ये बिहार में अपनी बेकरी लगा कर रोज लगभग दो टन प्रोडक्ट बनाकर बाजार में बेच रहे हैं। 

दिल्ली के एनएसआईसी इंक्यूबेटर सेण्टर में उद्यमिता विकास कार्यक्रम (Entrepreneurship Development Programme, EDP) में हिस्सा ले रहे छात्रों से मिलने और अपने अनुभव साँझा करने आये संतोष कुमार ने बताया की उन्होंने ईडीपी कार्यकर्म के तहत 187 बैच में यहाँ से बेकरी प्रोडक्ट्स बनाने का कोर्स पास किया था।  यहाँ से ट्रेनिंग के दौरान उनको एनएसआईसी ओखला इनक्यूबेटर सेण्टर में एडवांस मशीनो पर काम करने का मौका मिला साथ ही यहाँ ट्रेनिंग देने वाले इंस्ट्र्रक्क्टर और एकाउंट्स, मार्केटिंग, मार्किट सर्वे, जैसे विषय पर भी विस्तार जे जानकारी दी गई। कार्यकर्म पूरा होने के बाद संतोष कुमार ने बिहार में मनु फूड्स के नाम से अपने जिले सोपोर में काम शुरू किया। जो की अब साल भर में ही रोज का लगभग दो टन बेकरी प्रोडक्ट बनाकर आस पास के मधुबनी, सरहसा, मधेपुरा जैसे पांच -छह जिलों में सप्लाई कर रहे हैं। 

एनएसआईसी ओखला इनक्यूबेटर सेण्टर में अलग अलग उद्योग लगाने के लिए ट्रेनिंग ले रहे छात्रों का कहना है की यहाँ पर उनको उद्यमिता से जुड़े हर विषय को विस्तार से बताया जाता है। जिसमे एकाउंट्स, सेल्स, मार्केटिंग, मार्किट सर्वे, जैसे विषयों पर टीचिंग स्टाफ मौजूद है। साथ ही यहाँ के शिक्षकों के साथ मिल कर नए नए आइडियाज पर भी चर्चा होती रहती है। जो की बहुत ही उपयोगी होती है। फ़िलहाल एनएसआईसी ओखला इनक्यूबेटर सेण्टर में कंप्यूटर एम्ब्रोडरी, आटा चक्की, मसाले बनाना, नोट बुक प्रिंटिंग, मस्टर्ड आयल एक्सपिलर एंड पैकिंग, गारमेंट मेकिंग, सोया प्रोडक्ट्स और बेकरी प्रोडक्ट्स बनाने के लिए ट्रेनिंग बैच चलाये जा रहे हैं।  

 एनएसआईसी ओखला इनक्यूबेटर सेण्टर के सेल्स और मार्केटिंग पढ़ाने वाले मोहमद हारुन अनवर का कहना है की जो लोग अपना काम शुरू करना चाहते हैं, उसके लिए बनाया गया है। छह सप्ताह के इस कोर्स में भावी उद्योगपतिओं को सेल्स, मार्केटिंग, अपना बिजनेस कैसे सेटअप करना है और अकाउंट जैसे विषय के साथ साथ प्रेक्टिकल ट्रेनिंग भी दी जाती है। 

यहाँ से सफलता पूर्वक कोर्स पूरा करने के बाद अपना उद्योग लगाने के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर सही तरीके से सरकारी बैंकों से माध्यम से लोने दिलवाने में भी मदद की जाती है ताकि स्वरोजगार को बढ़ावा मिले साथ ही और लोगों को भी रोजगार देने लायक हो सके।

 

ये भी पढ़ें :

खबरें