नोटबंदी के 2 साल पूरे:क्या सच में कैशलेस हुई इकोनॉमी?
नोटबंदी के 2 साल पूरे:क्या सच में कैशलेस हुई इकोनॉमी?
08, Nov 2018,05:11 PM
tv100,

आज 8 नवंबर के दिन नोटबंदी को लागू हुए पूरे दो साल हो गए हैं। आज ही के दिन साल 2016 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। जिसके बाद पुराने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद हो गए थे। इनके स्थान पर 500 और 2 हजार रुपये के नए नोट जारी किए गए थे. देशभर में अफरातफरी का माहौल रहा।
भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से मुहैया किए गए डेटा के मुताबिक 8 नवंबर, 2016 की रात को 17.01 लाख करोड़ कैश चलन में था. वहीं, 8 नवंबर, 2018 को 18.76 लाख करोड़ रुपये कैश चलन में है. इससे साफ जाहिर है कि कैश की डिमांड अभी भी कम नहीं हुई है और लोग आज भी कैश इस्तेमाल करना पसंद करते हैं.
दूसरी तरफ, भले ही कैश फिर क‍िंग बना हो, लेक‍िन डिजिटल ट्रांजैक्शन में भी थोड़ी बढ़त देखने को मिली है. 2015-16 में एनईएफटी वॉल्यूम 1.25 लाख करोड़ रुपये का था. 2017-18 में यह 50 फीसदी बढ़ा है. इस बढ़त के साथ यह 1.95 लाख करोड़ के आंकड़े पर पहुंच गया है.

वहीं, आईएमपीएस ट्रांजैक्शन में भी 5 गुना की बढ़ोतरी हुई है. यह 2015-16 के दौरान जहां 22000 करोड़ रुपये था. अब यह बढ़कर 1 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया है. डेबिट, क्रेडिट और प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट्स व वॉलेट्स की बात करें तो इनमें 236 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. पहले इनके जरिये लेन-देन 4.48 लाख करोड़ रुपये का हुआ था. यह अब बढ़कर 10.6 लाख करोड़ रुपये हो गया है.

आरटीजीएस ट्रांजैक्शन में भी 41 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. यह 824 लाख करोड़ से बढ़कर 1167 लाख करोड़ पर पहुंच गया है.


विपक्षी पार्टी का वार
विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने नोटबंदी के 2 साल पूरे होने पर इसके नुकसान गिनाए हैं। इस मौके पर कांग्रेस ने #नोटबंदी की दूसरी बरसी लिख कई ट्वीट किए हैं। एक ट्वीट में बताया गया है कि नोटबंदी से 35 लाख नौकरियां छिनीं, 1.5 करोड़ श्रम बल का नुकसान हुआ है। जिससे देश की जीडीपी को 1.5 करोड़ का नुकसान हुआ। 8 हजार करोड़ नोटों की छपाई पर खर्च हुए हैं।

नोटबंदी से मोदी जी ने, किया ये गड़बड़झाला।
सौ से ज्यादा परिवारों में, अंधकार कर डाला।। #DestructionByDemonetisation#NotebandiKiDoosriBarsi pic.twitter.com/zJHi9sjixA

— Congress (@INCIndia) November 8, 2018

ट्वीट में यह भी कहा गया है, 'नोटबंदी से मोदी जी ने, किया ये गड़बड़झाला। सौ से ज्यादा परिवारों में, अंधकार कर डाला।

ये भी पढ़ें :

दिल्ली: अवैध पटाखों को लेकर बड़ी कार्रवाई, हज़ारों से ज्यादा पटाखे जब्त, 100 के ऊपर लोग गिरफ्तार

खबरें