एम्स के डॉक्टर ने UP की रहने वाली एक लड़की के गर्भाशय से 15 किलो का ट्यूमर निकाला 
 एम्स के डॉक्टर ने UP की रहने वाली एक लड़की के गर्भाशय से 15 किलो का ट्यूमर निकाला 
01, Nov 2018,04:11 PM
tv100,

यूपी के हापुड़ की 20 साल की चांदनी अनमैरिड हैं, अचानक उनके पेट का आकार बढ़ने लगा और इतना बढ़ा हो गया कि जैसे वह प्रेग्नेंट हैं। डरी-सहमी जब वह एम्स पहुंचीं, तो जांच में पता चला कि उनके पेट में बहुत बड़ा ट्यूमर है, जो यूट्रस से काफी सटा हुआ है। वहीं, डॉक्टरों के सामने चैलेंज था कि लड़की की कम उम्र और यूट्रस के पास ट्यूमर होने की वजह से यूट्रस को भी निकालना पड़ सकता है। लेकिन एम्स के डॉक्टर ने यूट्रस को बिना नुकसान पहुंचाए ट्यूमर निकालने में सफलता हासिल कर ली। डॉक्टर का दावा है कि इतने बड़े ट्यूमर के बाद भी लड़की आने वाले समय में मां बन सकती हैं, क्योंकि यूट्रस पूरी तरह से सेफ है।


 मेडिकली इस तरह के ट्यूमर को लियोमायोमा कहा जाता है। 22 अक्टूबर को इसकी सर्जरी की गई, पेट चीर कर चार घंटे की सर्जरी में यह ट्यूमर निकाला गया। इसका वजन 15 किलो से भी ज्यादा था। यह सबसे बड़ा यूट्राइन वॉल ट्यूमर था, इसलिए हमने इसे इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्डस में शामिल करने के लिए भी भेजा है। 


उन्होंने कहा कि ट्यूमर इतना बड़ा था कि यूट्रस और ओवरी तक को अपने चपेट ले रखा था, थोड़ी सी गलती उसके यूट्रस और ओवरी को नुकसान पहुंचा सकता थी और फिर इससे उसकी बाकी की जिंदगी खराब हो सकती थी। अगर यूट्रस नहीं बचता तो वह मां नहीं बन पाती, लेकिन अब वह शादी के बाद मां बन सकती है। डॉक्टर ने कहा कि ट्यूमर के अंदर भारी मात्रा में गंदा और खराब तरल पदार्थ भी जमा हो गया था, सर्जरी से पहले उसे बाहर निकाला गया, जिसका वजन लगभग चार किलो था। उसके बाद ट्यूमर निकाला गया। 

ये भी पढ़ें :

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 को लेकर कांग्रेस में मचा घमासान थमने का नाम नहीं

खबरें